भभुआ में वार्ड पार्षद के पुत्र ने सिकठी के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी।

बिहार में कैमूर जिले के भभुआ में आज वार्ड पार्षद बदरूद्दीन के पुत्र मोहम्मद साहिल ने के पुत्र ने आपसी रंजिश के कारण सिकठी के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी।

बिहार में कैमूर जिले के भभुआ में आज वार्ड पार्षद के पुत्र ने आपसी रंजिश के कारण सिकठी के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि वार्ड संख्या 10 के पार्षद बदरूद्दीन के पुत्र मोहम्मद साहिल ने आपसी रंजिश के कारण भभुआ थाना क्षेत्र के सिकठी गांव निवासी माधव पटेल को गोली मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी।

गोली मारने के बाद जब मो.साहिल भागने की कोशिश कर रहा था तब स्थानीय लोगों ने उसे पकड़ लिया और जमकर पिटाई करने के बाद उसे पुलिस को सौंप दिया।

भभुआ में वार्ड पार्षद के पुत्र ने सिकठी के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी।
भभुआ में वार्ड पार्षद के पुत्र ने सिकठी के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी।

सूत्रों ने बताया कि पिटाई के कारण मो.साहिल गंभीर रूप से घायल हो गया है । उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसकी स्थिति चिंताजनक बतायी जाती है।

 

सब्जी मंडी, कचहरी पथ, समाहरणालय पथ में पसरा सन्नाटा

 

शहर की सड़कों पर गश्त लगा रही पुलिस, गांव में कोहराम

 

04 बजे के करीब गोली मारने की हुई घटना

 

05 बजे के आसपास भीड़ ने शुरू की तोड़फोड़

 

भभुआ। हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

 

शहर के हवाई अड्डा के पास बुधवार की शाम सिकठी के युवक की गोली मारे जाने की घटना के बाद उग्र हुई भीड़ के बिगड़ते मूड को देख शहर की दुकानों के धड़ाधड़ शटर गिरने लगे। राहगीर गलियों की ओर भागने लगे। कच्चा-पक्का माल को दुकानदार जैसे-तैसे दुकानों में रख उसमें ताला जड़ दिया। देखते ही देखते शहर के कचहरी पथ व समाहरणालय पथ में सन्नाटा पसर गया। पूजा पंडाल से ऑडियो कैसेट से बजाए जा रहे भक्ति गीत का शोर भी थम गया। सब्जी मंडी तक वीरान दिखने लगा। सड़कों पर पुलिस का पहरा बढ़ गया। लोग अपने घरों में दुबक गए। जो लोग बाहर निकले थे उन्हें भी फोन कर घर बुला लिया गया। कुछ लोग बाइक से आ-जा रहे थे।

 

रोजाना गुलजार रहनेवाला एकता चौक, पटेल चौक, जेपी चौक और यहां तक की पुराना चौक पर भी आमजन नहीं दिखे। चाट, पकौड़, चाउमिन, छोला-भटूरा, चाउमिन, अंडा, मटन, चिकेन, पान, चाय की दुकानें बंद हो गईं। घरों में इस घटना को लेकर चचाएं तेज हो गईं। समाहरणालय पथ के पान विक्रमा मनोज कुमार ने बताया कि हंगामे को देखते हुए दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद कर दी है। प्रशासन ने भी उन्हें सुरक्षा का हवाला देते हुए उनसे दुकानें बंद करने की अपील की थी। सड़कों पर पुलिस के वाहन सायरन बजाते गश्त लगाने लगे।

 

उधर, शव लेकर पहुंची एम्बुलेंस को ग्रामीणों ने पटेल चौक के पास ही रोक लिया और शव का पोस्टमार्टम कराने के बजाय गांव में लेकर चले गए। शव पहुंचते ही घर-गांव में कोहराम मच गया। जो जहां जिस हाल में था मृतक के दरवाजे पर पास पहुंचा। पुलिस अधिकारी भी जवानों के साथ सिकठी गांव में पहुंची है। पुलिस शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए सदर अस्पताल लेकर आने को लेकर बातचीत कर रही है। पूर्व विधायक डॉ. प्रमोद सिंह ने भीड़ को शांत करने में प्रशासन की मदद की।

 Read More : मोहनिया कैमूर में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहें, सब कुछ जानिए

Read More :In Bhabua the ward councilor’s son shot and killed a young man from Sikthi

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *